सांसों की दुर्गंध से कैसे छुटकारा पाएं

1 min


Advertisements

जबलपुर : वैसे तो आप बहुत स्टाइलिश हैं. आप महंगे कपड़े पहनते हैं, महंगी घड़ियां पहनते हैं, महंगे जूते आपका शौक है। लेकिन अगर आप अपना मुंह खोलते हैं और आपके मुंह से बदबू आती है, तो इस शैली का कोई मतलब नहीं है। क्योंकि जैसे ही आप अपना मुंह खोलेंगे, आपके दोस्त आपसे दूर भागने लगेंगे।

सांसों की बदबू इतना बुरा अनुभव है कि कोई इसका अनुभव नहीं करना चाहता। अगर कोई इस आत्म-शर्मनाक अनुभव का अनुभव करता है, तो यह एक बहुत ही बुरी याददाश्त बन जाती है और व्यक्ति के दिमाग में अपनी जगह ले लेती है।

हम सभी अपने दांतों को रोजाना ब्रश करते हैं, लेकिन कभी-कभी ऐसा होता है कि सांसों से बदबू आने लगती है। हालांकि यह समस्या बहुत ही मामूली होती है, लेकिन छोटे-छोटे उपाय करके इसे ठीक किया जा सकता है। लेकिन इसके पीछे की वजह जानना हम सभी के लिए बेहद जरूरी है।

आयुर्वेदिक डॉक्टर शरद कुलकर्णी ने एक मीडिया वेबसाइट को इस गंभीर मुद्दे के बारे में समझाया और इसके पीछे का कारण बताया और कुछ कारगर टिप्स भी दिए। आइए जानते हैं कुलकर्णी के टिप्स के बारे में।

सोने के कई कारण होते हैं

कुलकर्णी ने कहा कि सांसों की दुर्गंध की समस्या को चिकित्सकीय भाषा में मुंह से दुर्गंध आना कहा जाता है। उन्होंने कहा, इसका कारण यह है कि आम लोग इसके बारे में सोचते भी नहीं हैं। डॉक्टरों का कहना है कि सांस लेने में तकलीफ का कारण सिर्फ मुंह से ही नहीं बल्कि पेट से भी जुड़ा होता है। उनके अनुसार मौखिक गुहा मधुमेह, शराब, प्याज, मांस, लहसुन, श्वसन तंत्र की समस्या, पाचन समस्या, धूम्रपान, लहसुन सभी नींद के कारण होते हैं।

डेली रूटीन में इन टिप्स को फॉलो करने की सलाह

इस बदबू से निजात पाने के लिए डॉ. कुलकर्णी ने दिन में दो बार ब्रश करने, जीभ की सफाई और फ्लॉसिंग सहित टिप्स दिए। उन्होंने कहां कहा कि अगर सभी लोग रोजाना ऐसा करेंगे तो ओरल कैविटी जैसी समस्या नहीं होगी। उन्होंने कहा कि रोजाना ज्यादा से ज्यादा पानी पीना भी इस समस्या को दूर करने का एक तरीका है। लेकिन अगर उसके बाद भी आपकी सांसों से दुर्गंध आती है, तो शरद ने कुछ घरेलू उपाय भी बताए हैं।

सौंफ, लौंग और इलायची का प्रयोग

उन्होंने कहा कि सौंफ, लौंग और इलायची का अलग-अलग तरीके से इस्तेमाल करने से सांसों की दुर्गंध से छुटकारा मिलता है। कुलकर्णी जी ने कहा कि इलायची, लौंग और सौंफ को एक साथ या अलग-अलग चबाने से सांसों की दुर्गंध से जुड़े सभी कारक दूर हो जाते हैं। कालकर्णी का कहना है कि इसे चबाने से श्वसन तंत्र से जुड़ा एक ऐसा पदार्थ निकलता है जो सांसों की दुर्गंध का कारण बनता है। वह मुड़ जाती है। कुलकर्णी जी ने श्वसन तंत्र से संबंधित सांसों की दुर्गंध की समस्या के लिए यह उपाय बताया।

जीरा, नमक, अदरक और अजवाइन पाउडर

कुलकर्णी जी ने कहा कि अगर नमक, जीरा, अदरक और अजवायन को पीसकर पाउडर बना लिया जाए। इसके बाद दोपहर में दिन में खाने से पहले इसके बने चूर्ण को चबाकर खाने से पेट की पाचन क्रिया में सुधार होता है।

पाचन क्रिया से सांसों की दुर्गंध की समस्या भी दूर होती है। पेट की समस्याओं से जुड़ी सांसों की दुर्गंध से छुटकारा पाने के लिए डॉ. कुलकर्णी जी ने यह उपाय बताया। सांसों की दुर्गंध से छुटकारा पाने के लिए ये घरेलू और डेली रूटीन टिप्स बेहद कारगर हैं।

धूम्रपान, शराब और मांस छोड़ने की सलाह दी

इसके अलावा कुलकर्णी जी ने यह भी कहा कि मुंह खराब होने का कारण शराब, धूम्रपान और मांस है। इसलिए अगर आप इसे छोड़ देते हैं तो सांसों की दुर्गंध की समस्या जरूर दूर हो जाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि लहसुन और प्याज भी इस समस्या का मुख्य कारण हैं, इसलिए अगर आप अपने खाने में इनका ज्यादा सेवन कर रहे हैं तो आपको इनका कम खाना शुरू कर देना चाहिए।

कहते हैं कि अगर आप मांस खाते हैं तो मांस खाने के बाद ब्रश जरूर करना चाहिए। मधुमेह के रोगी में सांसों की दुर्गंध की समस्या के लिए उन्होंने कहा कि मधुमेह के रोगी को इस समस्या से तभी छुटकारा मिल सकता है जब शुगर का स्तर नियंत्रण में रखा जाए.


Like it? Share with your friends!